सही निर्णय कैसे ले -Sahi decision Kaise le

Sahi Decision Kaise le
कृपया इस पोस्ट को शेयर करें- Share it

निर्णय सही और गलत हो सकते है लेकिन हमें इसका पता तब चलता है जब हम निर्णय लेते है। हमें बस ध्यान देना चाहिए। हम जो भी निर्णय ले वे सोच समझकर ले और निर्णय कभी भी दीर्घकालिक परिणाम सोचकर लेना चाहिए। ये सोचे अगर 10 साल बाद भी इस डिसिशन के बारे में सोचू तो भी यह सही लगे। निर्णय लेने के लिए साहस की जरूरत पड़ती है। इसलिए अपने सफलता की ओर साहस के साथ छोटे-छोटे कदम बढ़ाये। आइये समझते है Sahi decision Kaise le और निर्णय लेने से पहले हमें किन-किन बातो पर ध्यान देना चाहिए।

Contents

(A)  अपने डर के स्रोत को समझना-

Sahi Decision Kaise le
सही निर्णय कैसे ले -Sahi decision Kaise le

(1) निर्णय लेने में सबसे बड़ी रूकावट हमारा डर है सबसे पहले अपने डर के बारे में लिखें –

अपने डर के बारे में लिखने से आपको उन्हें समझने और परिणामस्वरूप बेहतर निर्णय लेने में मदद कर सकती है। आपको जो निर्णय लेने की आवश्यकता है उसके बारे में लिखना शुरू करें।

निर्णय लेने के बारे में जो भी चीज आपको चिंतित करता है उनकी सूची बनाये। आप खुद से पूछे की, मुझे क्या निर्णय लेने की ज़रूरत है और अगर मैं गलत चुनाव करता हूं तो मुझे क्या डर लगता है।

(2) सबसे खराब स्थिति संभावना के बारे में सोचे

जो भी निर्णय आपको लेना है और आपको उससे क्यों डर है। एक बार जब आप अपने निर्णय लेने के बारे में लिख लेते हैं। यह आपको एक कदम  आगे ले जाता है।  उसके बाद प्रत्येक संभावित विकल्प की सबसे खराब परिणाम की संभावना को जानने का प्रयास करें।

यदि गलत हो तो क्या गलत हो सकता है, और खराब परिस्तितियों को अपने प्रयासो से कम से कम करने करने के लिए मै क्या कोशिश कर हु।

(3) विचार करें कि आपके द्वारा किए गए निर्णय स्थायी होंगे या नहीं

एक बार जब आपने सोच लिया, क्या गलत हो सकता है, उसके बाद यह आप  सोचे  कि निर्णय को पुन वापस लेकर उसी स्थिति में आ सकते है या नहीं। अधिकांश निर्णय ऐसे होते जिनमे हम पुन उसी स्थिति में आ सकते है।

(4) किसी मित्र या परिवार के सदस्य से बात करें –

ऐसा महसूस न करें, कि आपको अपने आप को एक कठिन निर्णय लेना है। आप अपने विचार अपने परिवार के सदस्य और विश्वसनीय मित्र के साथ साझा कर सकते है।

आपके मित्र या परिवार के सदस्य के पास आपके लिए कुछ अच्छी सलाह या प्रोत्साहन शब्द हो सकते हैं।जो आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेगा। आप ऑनलाइन माध्यम से उन लोगो से सलाह ले सकते हैं जिन्होंने समान स्थिति का अनुभव किया है। और निर्णय लिया हो।

(B) निर्णय लेते समय ध्यान में रखने वाली बाते –

(1) शांत रहो

अशांत होने से आपके निर्णय लेने की आपकी क्षमता प्रभावित हो सकती है। निर्णय लेने से तो पहले हमें शांत रहना चाहिए। यदि आप शांत नहीं रह सकते हैं, तो निर्णय लेने से दूर रहें जब तक कि आप शांत नहीं हो जाते।

अपने आप को शांत करने में मदद करने के लिए कुछ गहरी सांस लेने का प्रयास करें। यदि आपके पास अधिक समय है, तो शांत कमरे में जाएं और लगभग 10 मिनट गहरे सांस लेने का अभ्यास करें।

(2) जितना संभव हो उतना जानकारी प्राप्त करें –

जब आपके पास  निर्णय लेने के लिए पर्याप्त जानकारी होती है तो अधिकतर निर्णय बेहतर होते हैं। निर्णय लेना, खासकर यदि वे महत्वपूर्ण विषयों के बारे में हैं, तो तर्क पर भरोसा करना चाहिए। आपको अन्य विकल्पों पर भी विचार करना होगा, और उनके बारे में जानकारी इकट्ठा करना होगा।

(3)  समस्या को समझने के लिए “Five whys” तकनीक का प्रयोग करें

यह तकनीक आपको किसी समस्या के स्रोत को उजागर करने में मदद करती हैं, और आप यह निर्धारित कर सकते हैं कि आप सही कारणों से निर्णय ले रहे हैं या नहीं। इस तकनीक में आपको  खुद से पांच बार “क्यों? पूछना है।

हम एक उदाहरण से समझते है।

five whys” technique का एक उदहारण -

प्रॉब्लम – Red Light, किसी के द्वारा क्रॉस करना।

Why 1. क्यकि वह काम के किये लेट हो रहा था।

वह लेट क्यों हो रहा था?

Why 2. क्यकि आज वो लेट उठा था।

आज वो लेट क्यों उठा था?

Why 3. क्यकि अलार्म क्लॉक काम नहीं कर रहा था।

अलार्म क्लॉक क्यों काम नहीं कर था?

Why 4. रात को मैंने चेक नहीं किया।

रात को चेक क्यों  नहीं किया?

Why 5. क्योकि मै भूल गया था।

(4)  अपने सभी विकल्पों की सूची बनाएं –

पहले हमें ऐसा लगता है कि विकल्प सिमित है, लेकिन यह आमतौर पर सच नहीं है। यहां तक कि यदि आपकी स्थिति सीमित लगती है, तो विकल्पों की सूची बनाने का प्रयास करें।

जब तक आपको पूर्ण सूची नहीं मिल जाती तब तक उनका मूल्यांकन करने की कोशिश न करें। यदि आपको विकल्पों के बारे में सोचने में परेशानी हो रही है, तो कुछ परिवार के सदस्यों या दोस्तों के साथ बात करे।

शोध से यह भी पता चलता है कि बहुत से विकल्प होने से भ्रम पैदा हो सकता है और निर्णय लेने में मुश्किल हो सकती है। एक बार जब आप अपनी सूची बना ले, तो स्पष्ट रूप से अव्यवहारिक विकल्पों को लिस्ट से हटा दे। विकल्पों की अपनी सूची को लगभग पांच विकल्पों रखने की कोशिश करें।

(5) संभावित निर्णयों का अनुमानित फ़ायदा और नुकसान का excel sheet बनाएं –

यदि आपकी समस्या जटिल है, तो अपनी निर्णय लेने की प्रक्रिया को मार्गदर्शन करने के लिए excel sheet बना सकते है। जिससे आपको फ़ायदा और नुकसान का अंदाजा लगा सकते है।

(C) सही निर्णय कैसे ले -Sahi decision Kaise le

Sahi Decision Kaise le
सही निर्णय कैसे ले -Sahi decision Kaise le

(1) खुद को सलाह दें जैसे कि आप अपने दोस्त को दे रहे है –

किसी निर्णय लेने से पहले यह सोचे अगर मेरा दोस्त को अगर निर्णय लेना हो तो मै इस परिस्तिति उसे क्या मै सलाह देता। इस तरह हम समस्या से बाहर रहकर बेहतर निर्णय ले सकते है।

(2) भविष्य के बारे में सोचे

निर्णय लेने का सबसे अच्छा तरीका यह सोचना है कि आप कुछ वर्षों में इसके बारे में कैसा महसूस करेंगे। जब आप दर्पण में देखते हैं तो आप अपने बारे में क्या सोचेंगे इसके बारे में सोचें। निर्णय के दीर्घकालिक परिणाम के बारे में सोचे।

(3) अपने ऊपर विश्वास रखें –

आपको शायद यह पता चल जाएगा कि कौन सा निर्णय सही है, इसलिए अगर सब कुछ विफल भी हो जाता है तो आपको अपने gut फीलिंग पर विश्वास करनी चाहिए चाहिए।

खुद से पूछें कि आप क्या करना चाहते हैं। कौन सा निर्णय आपको सबसे ज्यादा खुशहाल महसूस करेगा और आपको उस निर्णय को चुनना चाहिए।

(4) एक बैकअप योजना होना चाहिए –

अगर आपके पास कोई Backup योजना है तो आप किसी भी संभावित नकारात्मक परिणामों से परेशानी कम होगी। आपको सबसे ख़राब परिस्तिति के लिए Back up प्लान होना चाहिए।

जिनके पास अच्छी नेतृत्व की क्षमता होती है वो हमेशा एक Back up प्लान रखते है, क्यकि यह जरुरी नहीं है निर्णय कि आप हमेशा सफल ही हो जाए।

(5) एक निर्णय का चयन करे –

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन सा निर्णय लेते हैं, हर परिणाम को ज़िम्मेदारी के साथ स्वीकार करने के लिए तैयार रहें।

अगर चीजें काम नहीं करती हैं, तो लापरवाह होने के बजाय सचेत होकर निर्णय ले। कम से कम आप यह कह सकते हैं कि आपने सबसे अच्छा किया था। अपना निर्णय लें और इसके साथ डटे रहे।

मै यह आशा करता हु, कि Sahi Decision Kaise le आपको जीवन में निर्णय लेने में मदद करेगी।

निवेदन- Sahi Decision Kaise le आपको कैसा लगा, कृपया अपने comments के माध्यम से हमें बताएं और अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो जरूर share करे। हमारे लेटेस्ट पोस्ट प्राप्त करने के E-mail Subscribe जरूर करे।

जरूर पढ़े- Nick Vujicic बिना हाथ पैर के असंभव को संभव कर दिखाया

जरूर पढ़े- Jack ma – कैसे एक टीचर बन गया चीन का अरबपति आदमी


कृपया इस पोस्ट को शेयर करें- Share it

Author: Avinash Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *