Best 101+ स्वामी विवेकानंद के विचार-Vivekananda Quotes in Hindi

Vivekananda Quotes in Hindi

स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार (Vivekananda Quotes in Hindi)

Quote: 01

उठो, जागो और तब तक मत रुको, जब तक लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाय। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 02

यह कभी सोचना कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है। ऐसा कहना भी नास्तिकता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 03

कभी यह मत कहना कि मै यह नहीं कर सकता। ऐसा कभी नहीं हो सकता क्योंकि तुम अनन्तस्वरूप हो, तुम सर्वशक्तिमान हो। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 04

जिस क्षण व्यक्ति या राष्ट्र आत्मविश्वास खो देता है, उसी  क्षण उसकी मृत्यु हो जाती है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 05

अगर बार-बार आप असफल हो जाओ तो भी कोई हानि नहीं है। सहस्त्र बार इस आदर्श को अपने हृदय में धारण करे। अगर उसके बाद भी असफल हो जाओ, तो  एक बार फिर कोशिश करे।- स्वामी विवेकानंद

Quote: 06

तुम बलवान बनो – यही तुम्हारे लिए मेरा संदेश है। गीता पाठ करने की अपेक्षा तुम फुटबॉल खेलने  स्वर्ग के अधिक समीप पहुंचोगे। मैंने यह बात अतयंत साहसपूर्वक होकर कहीं है। यह कहना आवश्यक है क्योकि मै तुमसे प्यार करता हु। बलवान शरीर से और मज़बूत बाहों से  गीता को अधिक समझ सकोगे। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 07

साधारण मनुष्य अपने विचार का 90% व्यर्थ नष्ट कर देता है इसलिए वह निरंतर भूले करता है। एक प्रशिक्षित मन कभी कोई भूल नहीं करता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 08

उठो ! आओ ! ऐ सिंहों ! इस भ्रम को झटककर दूर फेंक दो कि तुम भेड़ हो। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 09

 आलसी जीवन जीने से अच्छा मरना उचित है, पराजित होकर जीने की तुलना में युद्ध-क्षेत्र में मर जाना श्रेयस्कर है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 10

तुम जो कुछ सोचोगे, तुम वही हो जाओगे। अगर तुम अपने को दुर्बल समझगो, तो तुम दुर्बल बन जाओगे। बलवान सोचोगे तो बलवान बन जाओगे। – स्वामी विवेकानंद

Vivekananda Quotes in Hindi
Vivekananda Quotes in Hindi

जरूर पढ़े – 250+ महात्मा गाँधी के विश्व प्रसिद्ध विचार

Quote: 11

जो कुछ भी भयानक है, उसका सामना करो। साहस पूर्वक उसके सामने खड़ा होना पड़ेगा। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 12

लोग कहते है इस पर विश्वास करो, उस पर विश्वास करो। मै कहता हु अपने आप पर विश्वास करो। सारी शक्ति तुम्हारे भीतर ही है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 13

अपने आप से कहो कि हम सब कुछ कर सकते है। नहीं-नहीं कहने से साँप का विष भी असर नहीं करता। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 14

निराश मत हो, मार्ग बड़ा कठिन है – छुरे की धार पर चलने के समान मुश्किल है, फिर भी निराश मत हो, जागो और अपने परम आदर्श को प्राप्त करो। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 15

मै इस सिद्धांत से असहमत हूँ कि प्रकृति के नियमों का पालन ही मुक्ति है। मनुष्य की प्रगति तो प्रकृति के उल्लंघन से ही हुआ है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 16

मानव मन की कोई सीमा नहीं है वह जितना एकाग्र होता है उतनी उसकी शक्ति बढ़ती है। बस यही सफलता का रहस्य है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 17

मनुष्य और पशु में मुख्य अंतर, उनकी मन की एकाग्रता की शक्ति का होता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 18

किसी भी कार्य में सफलता, एकाग्रता की शक्ति का परिणाम है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 19

एकाग्रता की शक्ति में अंतर के करण, एक मनुष्य दूसरे मनुष्य से भिन्न होता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 20

मनुष्य को पापी कहना पाप है। तुम तो ईश्वर की संतान हो। तुम पापी नहीं हो सकते। – स्वामी विवेकानंद

Vivekananda Quotes in Hindi
Vivekananda Quotes in Hindi

Quote: 21

कुछ भी करो, अपना पूरा मन और पूरा प्राण उसमे लगा दो, चाहें वह छोटा से छोटा काम क्यों न हो। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 22

मनुष्य को तभी तक मनुष्य कहा जा सकता है जब तक वह प्रकृति से ऊपर उठने के लिए संघर्ष करता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 23

यह दुनिया एक व्यायामशाला है, जहाँ हम अपने आप को बलवान बनाने आते है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 24

हम अपने वर्तमान अवस्था के जिम्मेदार ख़ुद है। हम जो कुछ भी करना चाहें, उसकी शक्ति हमारे भीतर है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 25

यदि हमारी वर्तमान अवस्था, हमारे ही पूर्व कर्मो का फल है, तो यह निश्चित है हम जो कुछ भी भविष्य में होना चाहते है, वह हमारे वर्तमान कार्य द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 26

सब प्रकार के शरीरों में मानव-देह ही श्रेष्ठतम है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 27

तुम्हें अंदर से बाहर विकसित होना है। कोई तुम्हें सीखा नहीं सकता है, न आध्यात्मिक बना सकता है। तुम्हारी आत्मा के सिवा और कोई गुरु नहीं है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 28

जिस कष्ट को हम अभी झेल रहे है, वे हमारे ही कर्मो का परिणाम है, अगर इसको सत्य मान लिए जाय तो हम इसे नष्ट भी कर सकते है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 29

अगर तुम अपने हृदय से नफरत और घृणा का भाव चारों तरफ़ भेजो, तो यह चक्रविद्धि के साथ तुम आ गिरेगा। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 30

तुम क्यों रोते हो ? तुम्हारे लिए न मृत्यु है, न रोग है, न दुःख है, न शोक है। तुम तो सत्यस्वरूप हो। अपने स्वरूप में प्रतिष्ठित हो जाओ। – स्वामी विवेकानंद

Vivekananda Quotes in Hindi
Vivekananda Quotes in Hindi

जरूर पढ़े – 201+ सद्गुरु जग्गी वासुदेव के अनमोल विचार-Sadhguru Quotes in Hindi

Quote: 31

दुनिया तभी पवित्र और अच्छी हो सकती है, जब हम स्वयं पवित्र और अच्छे हो। – स्वामी विवेकानंद

 Quote: 32

साहसी बनो और इस बात का विश्वास रखो कि हमारे और तुम्हारे द्वारा महान कार्य होने है। भगवान ने बड़े-बड़े कार्य करने के लिए हमें निर्दिष्ट किया है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 33

शिकायतों और झगड़ो से क्या लाभ ? उससे हम अधिक अच्छे तो नहीं बन जायेगे। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 34

हम जो कुछ भी सोचते और कार्य करते है, कुछ समय बाद वह सूक्ष्म रूप धारण कर लेता है। वह बीजरूप  बन जाता है और शरीर में अव्यक्त रूप में रहता है फिर कुछ समय बाद प्रकाशित होकर फल भी देता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 35

मनुष्य अपना सारा जीवन इसी प्रकार गढ़ता है। मनुष्य किसी भी नियम से बद्ध नहीं है। वह अपने ही नियम में, अपने ही जाल में अपने आप बंधा है। – स्वामी विवेकानंद 

Quote: 36

हम क्यों न लक्ष्य की ओर अग्रसर होने का प्रयत्न करे। असफलता से ही हम सीखते है। अनंतकाल हमारे सामने है, फिर हम हताश क्यों हो? – स्वामी विवेकानंद

Quote: 37

दीवाल को देखो। क्या कभी वह झूढ बोलती है ? लेकिन वह कभी उनत्ति भी नहीं करती, दीवाल की दीवाल ही रहती है। मनुष्य झूठ बोलता है किन्तु उसमे देवता बनने की क्षमता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 38

हमें सदैव कोशिश करते रहने चाहिए। इसकी परवाह मत करे, यदि आप गलत रास्ते पर भी जा रहे हो। कुछ न करने से यह अच्छा है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 39

कठिनाई, लगतार अभ्यास से दूर किया जा सकता है। जब तक हम अपने आप को दुर्बल न बनाये, तब तक हमारे साथ कुछ भी नहीं हो सकता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 40

सब उत्तरदायित्व अपने कंधे पर पर ले लो- याद रखो कि तुम स्वयं अपने भाग्य के निर्माता हो। सारी शक्ति तुम्हारे अंदर है। – स्वामी विवेकानंद

Vivekananda Quotes in Hindi
Vivekananda Quotes in Hindi

Quote: 41

जो कापुरुष और मुर्ख है, वह कहता है, यह भाग्य है। लेकिन जो बलवान है वह खड़ा हो जाता है और कहता है “मै अपने भाग्य का निर्माण करूँगा। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 42

यदि तुम सचमुच किसी मनुष्य के चरित्र को जाँचना चाहते हो, तो उसके बड़े कार्य की अपेक्षा उसके साधारण कार्यो की जांच करनी चाहिए। उससे ही उसके वास्तविक चरित्र का पता लगा सकते है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 43

प्रत्येक आत्मा अव्यक्त ब्रह्मा है। ब्रह्मा एवं अन्त:प्रकृति को वशीभूत करके आत्मा के इस ब्रह्माभाव को व्यक्त करना ही जीवन का परम लक्ष्य है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 44

सब के पास जा-जा कर कहो, “उठो, जागो और सोओ मत। अभाव और दुःख नष्ट करने की शक्ति तुम्हारे अंदर ही है। इस बात पर विश्वास करने से ही वह शक्ति जाग उठेगी। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 45

यदि तुम सोचो तुम्हारे अंदर अनंत शक्ति, अपार ज्ञान और अदम्य  उत्साह  है और उसे तुम जगा सको तो  तुम भी मेरे समान हो जाओगे। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 46

हर काम को तीन अवस्थाओं से गुजरना पड़ता है – उपहास, विरोध और फिर स्वीकृति। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 47

जो मनुष्य अपने समय से आगे का विचार करता है, लोग उसे गलत समझते है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 48

 जो शिक्षा साधारण व्यक्ति को जीवन-संग्राम के लिए समर्थ नहीं बना सकती। वह शिक्षा व्यर्थ है। जिस शिक्षा से मनुष्य अपने पैरो पर खड़ा होता है वही असली शिक्षा है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 49

शिक्षा का मतलब यह नहीं है कि  तुम्हारे दिमाग में ऐसी बहुत सी बाते इस तरह ठूस दी जाय, जो आपस में ही लड़ने लगे। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 50

मेरे विचार से शिक्षा का सार मन की एकाग्रता प्राप्त करना है, तथ्यों का संकलन नहीं। – स्वामी विवेकानंद

Vivekananda Quotes in Hindi
Vivekananda Quotes in Hindi

जरूर पढ़े – 110+ कबीर दास के अद्भुत दोहे हिंदी अर्थ के साथ

Quote: 51

ज्ञान मनुष्य में ही अंतनिर्हित है। कोई भी ज्ञान बाहर से नहीं आता। सब आपके अंदर ही है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 52

दसरो में बुराई न देखो। बुराई अज्ञान है, बुराई दुर्बलता है। लोगो को यह बताने से क्या फ़ायदा कि वे दुर्बल है। आलोचना और खंडन से कोई लाभ नहीं होता। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 53

बड़े काम में बहुत समय तक लगातार और असामान्य प्रयत्न करना पड़ता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 54

तुम इस बात के लिए कृतज्ञ हो कि इस संसार में तुम्हे निर्धन पर दया करने का अवसर मिला। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 55

दुष्कर्म द्वारा हम केवल अपना ही नहीं वरन दूसरों का भी अहित करते है और सतकर्म द्वारा हम अपना और दूसरों का भी भला करते है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 56

कर्मयोग के अनुसार, बिना फल उत्पन्न किये बिना कोई भी कर्म नष्ट नहीं हो सकता। प्रकृति की कोई भी शक्ति उसे फल उत्पन्न करने से नहीं रोक सकती। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 57

अगर मै कोई बुरा कर्म करू तो उसका फल मुझे भोगना ही पड़ेगा, विश्व की कोई भी ताकत इसे रोक नहीं सकती। उसी प्रकार अगर मै कोई सत्कर्म करू तो विश्व की कोई ताकत उसके शुभ फल को रोक नहीं सकती। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 58

स्वयं के बारे में पहले सोचना सबसे बड़ा पाप है। जो मनुष्य यह सोचता रहता है कि मै पहले खा लू, मुझे ही सब से अधिक धन मिल जाय, मुझे सबसे पहले मुक्ति मिल जाय, निश्चित ही वह मनुष्य स्वार्थी है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 59

नि: स्वार्थी व्यक्ति तो यह कहता है मुझे अपनी चिंता नहीं है, मुझे स्वर्ग जाने की आकांक्षा नहीं है, अगर मेरे नर्क जाने से भी किसी का भला हो सकता है तो मै उसके लिए तैयार हु। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 60

यह संसार कायरों के लिए नहीं है। पलायन की चेष्टा मत करो। सफलता और असफलता की चिंता मत करो। – स्वामी विवेकानंद

Vivekananda Quotes in Hindi
Vivekananda Quotes in Hindi

Quote: 61

अपने को बहुत बड़ा मत समझो। तुम धन्य हो कि तुम्हें सेवा का अधिकार मिला है दूसरों को नहीं मिला। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 62

जो जीवों के प्रति दया करता है, वह व्यक्ति ईश्वर की सेवा कर रहा है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 63

एक बात जो मै सूर्य के प्रकाश की तरह स्पष्ट देखता हूँ वह यह है कि अज्ञानता ही दुःख का कारण है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 64

जब मृत्यु अवश्यम्भावी है तो सत्कार्य के लिए प्राण त्याग करना ही श्रेय है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 65

अगर तुम अपनी ही मुक्ति  के लिए सब कुछ त्यागना चाहते हो तो ये कैसा त्याग है ? क्या तुम संसार के कल्याण के लिए अपनी मुक्ति कामना तक छोड़ने को तैयार हो। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 66

तुम किसी की सहायता नहीं कर सकते, तुम्हें केवल सेवा का अधिकार है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 67

भय ही मृत्यु है। आज से ही भय मुक्त हो जाओ। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 68

धर्म वह वस्तु है, जिससे पशु, मनुष्य तक और मनुष्य, परमात्मा तक उठ सकता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 69

पुण्य वह है, जो हमारी उन्नति में सहायता करता है और पाप हमारे पतन में। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 70

जिस दिन आपके सामने कोई समस्या ना आये – आप सुनिश्चित हो सकते हैं कि आप गलत मार्ग पर चल रहे हैं। – स्वामी विवेकानंद

Vivekananda Quotes in Hindi
Vivekananda Quotes in Hindi

Quote: 71

यदि तुम वास्तव में पवित्र हो तो तुम्हें अपवित्रता कैसे दिखाई दे सकता है? क्योकि जो भीतर है वही बाहर दिखाई पड़ता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 72

वेदांत कहता है, ईश्वर के सिवाय दूसरा कोई भी नहीं है। जीवित ईश्वर तुम्हारे भीतर रहते है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 73

जिस किसी वस्तु से आध्यत्मिक, मानसिक या शारीरिक दुर्बलता उत्पन्न हो, उसे पैर की अंगुलियों से भी मत छूना। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 74

हम मनुष्य जाती को उस स्थान पर पहुंचना चाहते है जहां न वेद हो, न बाइबिल हो, न कुरान हो, लेकिन वेद, बाइबिल और कुरान के समन्वय से ऐसा हो सकता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 75

एक बात पर विचार करके देखिए, मनुष्य नियमों को बनाता है या नियम मनुष्य को बनाते है। मनुष्य रुपया पैदा करता है या  रुपया मनुष्यों पैदा करता है। मनुष्य कीर्ति और नाम पैदा करता है या कीर्ति और नाम मनुष्य को पैदा करते है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 76

तुम यह विश्वास रखो कि तुम्हारा जन्म अनेक महान कार्य करने के लिए हुआ है। कुत्तों की आवाज़ से मत डरो, यहाँ तक कि आकाश की प्रबल गर्जना हो, तो भी डरना मत। उठो, कमर कसकर खड़े हो जाओ। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 77

अपने मांसपेशी को मजबूत बनाओ। हमें लोहे के पुट्ठे और फौलाद की आवश्कता है। हम लोग बहुत दिन रो चुके। अब और रोने की आवश्कता नहीं है। अब अपने पैरो पर खड़े हो जाओ। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 78

दूसरों के लिए थोड़ा सा कार्य करने से ही हमारे भीतर शक्ति जाग उठती है। दूसरों के बारे में थोड़ा भी सोचने से हमारे ह्रदय में सिंह सा बल आ जाता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 79

यह जीवन आता है और जाता है – नाम, यश, भोग यह सब थोड़े दिन के लिए है। संसारी कीड़े की तरह मरने से अच्छा है अपने कर्तव्य को पूरा करते हुए मर जाओ। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 80

जब मृत्यु अवश्यंभावी है, तो कीट-पतंगों की तरह मरने के बजाय वीर की तरह मरना अच्छा है। इस अनित्य संसार में दो दिन अधिक जीने से क्या लाभ। – स्वामी विवेकानंद

Swami Vivekananda
Vivekananda Quotes in Hindi

Quote: 81

अगर हृदय और बुद्धि में विरोध हो तो तुम हृदय को चुनना क्योंकि बुद्धि की भी एक सीमा है। हृदय उसके पार जा सकता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 82

लोग तुम्हारी स्तुति करे या निंदा, लक्ष्मी की तुम्हारे ऊपर कृपा हो या नहीं हो। तुम्हारा देहांत आज हो या युग भर बाद, तुम न्याय-पथ से कभी भ्रष्ट मत होना। – स्वामी विवेकानंद

                 Quote: 83                  

मैंने अनुभव किया है जो अति सावधान रहता है, उसके जीवन में ज्यादा परेशानिया आती है। जो सदा नुकसान से डरता है उसके भाग्य में नुकसान ही होता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 84

हे सर्वशक्तिमान! उठो, जाग्रत होओ, अपना स्वरूप प्रकाशित करो। तुम अपने को पापी समझते हो, यह तुम्हें शोभा नहीं देता। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 85

वह क्या चीज है जो मनुष्य मनुष्य में भेद करती है, वह है मस्तिष्क की भिन्नता।- स्वामी विवेकानंद

Quote: 86

यह एक बड़ा सत्य है कि बल ही जीवन है और दुर्बलता ही मृत्यु है। बल अनंत सुख, चिरंतन और शाश्वत जीवन है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 87

 खुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप हैं। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 88

सत्य को हज़ार तरीकों से कहाँ जा सकता है, फिर भी सत्य एक ही होगा। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 89

जिस समय जिस काम के लिए आप प्रतिज्ञा करो, ठीक उसी समय पर उसे करना ही चाहिये, नहीं तो लोगो का आप पर से विश्वास उठ जाता है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 90

ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां पहले से हमारी हैं। वो हम ही हैं जो अपनी आँखों पर हाँथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अंधकार हैं। – स्वामी विवेकानंद

Swami Vivekananda
Vivekananda Quotes in Hindi

Quote: 91

मनुष्य तीन प्रकार के गुणों से निर्मित होता है, पाशविक, मानवीय और दैवी। जो तुममे दैवी गुण बढ़ता है वह पुण्य है और जो तुममें पशुता बढ़ता है वह पाप है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 92         

जो अग्नि हमें गर्मी देती है, वह हमें नष्ट भी कर सकती है, यह अग्नि का दोष नहीं हैं। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 93

हम वो हैं जो हमें हमारी सोच ने बनाया है, इसलिए इस बात का ध्यान रखिये कि आप क्या सोचते हैं। शब्द गौण हैं। विचार हमेशा रहते हैं, वे काफ़ी दूर तक यात्रा करते हैं। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 94

किसी की निंदा ना करें। अगर आप मदद के लिए हाथ बढ़ा सकते हैं, तो ज़रुर बढ़ाएं। अगर नहीं बढ़ा सकते, तो अपने हाथ जोड़िये, अपने भाइयों को आशीर्वाद दीजिए और उन्हें उनके मार्ग पर जाने दीजिए। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 95

दिन में एक बार अपने आप से ज़रूर बात करें, अन्यथा, आप इस दुनिया में सबसे अच्छे व्यक्ति से मिलने से चूक जाओगे।  – स्वामी विवेकानंद

Quote: 96

दूसरों के ऊपर निर्भर रहना बुद्धिमानी नहीं हैं। बुद्धिमान् व्यक्ति को अपने ही पैरों पर दृढता पूर्वक खड़ा होकर कार्य करना चहिए। धीरे धीरे सब कुछ ठीक हो जाएगा। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 97

जीवन में जोखिम लेना सीखे, अगर आप जीते तो आप और आगे बढ़ेंगे, अगर हारे तो दुसरो को आगे बढ़ने में प्रेरणा बनेगे  – स्वामी विवेकानंद

Quote: 98

स्वयं में बहुत सी कमियों के बावजूद, अगर में स्वयं से प्रेम कर सकता हूं तो दूसरों में थोड़ी बहुत कमियों की वजह से मैं उनसे कैसे घृणा कर सकता हूँ! – स्वामी विवेकानंद

Quote: 99

हम ईश्वर को नहीं खोज सकते हैं अगर हम उसे अपने हृदय में और प्रत्येक जीवित प्राणी में नहीं देख सकते हैं। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 100

एक विचार लो। उस विचार को अपना जीवन बना लो – उसके बारे में सोचों, उसके सपने देखो, उस विचार को जियो। अपने मस्तिष्क, मांसपेशियों, नसों, शरीर के हर हिस्से को उस विचार में डूब जाने दो और बाकी सभी विचार को किनारे रख दो। यही सफल होने का तरीका हैं। – स्वामी विवेकानंद

Swami Vivekananda
Vivekananda Quotes in Hindi

Quote: 101

यदि मैं अपने अनंत दोषों के बावजूद खुद से प्यार करता सकता हूं, तो मैं दूसरों में कुछ दोषों के होने के बावजूद कैसे नफरत कर सकता हूं। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 102

एक आदमी इसलिए ग़रीब नहीं होता है कि उसके पास पैसे नहीं है बल्कि इसलिए गरीब होता है क्योकि उसके पास सपने और महत्वाकांक्षा नहीं है। – स्वामी विवेकानंद

Quote: 103

हमेशा उच्चतम के लिए देखें, उच्चतम अपना लक्ष्य रखें, तभी आप उच्चतम तक पहुंचेंगे। – स्वामी विवेकानंद

आशा करता हूँ, स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार (Vivekananda Quotes in Hindi) आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेगे।आपका कोई सुझाव हो तों कमेंट बॉक्स में दे सकते है।

निवेदन- Vivekananda Quotes in Hindi आपको कैसा लगा, कृपया अपने comments के माध्यम से हमें बताएं और अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो जरूर share करे।

जरूर पढ़े – 100+ बेस्ट मोटिवेशनल कोट्स- Best Motivational Quotes in Hindi

Author: Avinash Singh

2 thoughts on “Best 101+ स्वामी विवेकानंद के विचार-Vivekananda Quotes in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *